महिलाओं के जीवन में उनकी फीमेल फ्रेंड्स की बहुत अहमियत होती है | फ्रेंड्स कहीं भी मिल जाए उनकी बातें खत्म होने का नाम नहीं लेती | इस पर काफी सारे चुटकुले हम अक्सर सुनते रहते हैं|

ऐसा नहीं है कि सिर्फ स्कूल या कॉलेज में ही दोस्त बनते हैं या तभी हमें उनकी जरूरत होती है | उम्र के हर पड़ाव के साथ दोस्तों की जरूरत महसूस होती है | आजकल घर और काम के बीच महिलाएं बहुत सारी जिम्मेदारियों से घिरी होती है | ऐसे में तनाव लाजमी है |

एक शोध के अनुसार विज्ञान भी इस बात को मानता है कि जो सेटिस्फेक्शन एक लेडी को अपनी फीमेल दोस्त से बात करने पर मिलता है वह कहीं और नहीं मिलता और 30 की उम्र के बाद इसकी जरूरत और बढ़ जाती है |

यह एक तरह की थैरेपी हैं जो हर तरह से फायदेमंद है जिससे हमें रिलैक्स और हैप्पी फील होता है | एक दूसरे से अपनी लाइफ शेयर करना, सीरियस मुद्दों पर बात करना, सलाह देना, सलाह लेना, नये-नये प्लान करना इन सब से तनाव भी कम होता है और कुछ समस्याएं कुछ हद तक कम भी होती हैं |

हमें अपनी फीमेल दोस्त से कुछ भी शेयर करने से पहले कुछ सोचना नहीं पड़ता है इसीलिए अपने बिजी शेड्यूल के बाद भी थोड़ा टाइम निकालकर इस थेरेपी को यूज करें इससे आपके हेल्थ, स्ट्रेस सब पर इफेक्ट पड़ेगा और आपको पॉजिटिव एनर्जी मिलेगी|