सास बहू का रिश्ता बहुत नाजुक होता है | इस रिश्ते को बनाए रखने के लिए यह जरूरी है कि वह दोनों ही इस की मर्यादा रखें | दोनों एक दूसरे का सम्मान करें | यदि सास, बहू को बेटी के रूप में अपनाती है तो वह बहू का भी फर्ज है कि इस रिश्ते को मां बेटी का रिश्ता ही बनाए रखें |

अपनाना और अपना बनाए रखना किसी एक के बस में नहीं है, दोनों को इसके लिए प्रयास करने पड़ते हैं |

सास और बहू के बीच दो पीढ़ियों का अंतर होने के कारण वैचारिक मतभेद होना स्वाभाविक है | लेकिन समय के साथ परिवार छोटे होते जा रहे हैं और वर्तमान सासु माँ भी पढ़ी लिखी होने के साथ नए विचारों वाली बनती जा रही हैं |
एक ऐसी ही सेलिब्रिटी जोड़ी का उदाहरण है जया बच्चन और ऐश्वर्या राय बच्चन की सास बहू की जोड़ी | इसमें कोई शक नहीं है कि जया बच्चन एक अच्छी मां और एक अच्छी पत्नी है, साथ ही वह एक अच्छी सास भी है जो अपने बेटे और बहू में कोई फर्क नहीं करती | कुछ मीडिया खबरों के मुताबिक ऐसा कहा जाता रहा है कि दोनों के रिश्ते सास बहू वाले ही रिश्ते हैं जिसमें दोनों एक दूसरे के विरुद्ध सोच रखते हैं परंतु अपने एक इंटरव्यू के दौरान जया बच्चन ने इन बातों को गलत साबित कर दिया है, उन्होंने मीडिया को बताया कि ऐश्वर्या घर में सब का सम्मान करती है | सब को खुश रखने की कोशिश करती है , साथ ही वह अपनी बेटी आराध्या का भी बहुत अच्छे से ध्यान रखती है | वह एक अच्छी मां, अच्छी बहू, और एक अच्छी पत्नी है | ऐसे काफी सारे मौके आते हैं जब दोनों को साथ देखा जाता है |
वक़्त के साथ मान्यतायें बदल रही हैं, जितनी व्यवहारिकता हम अपने अंदर लाएँगे और जितनी कम अपेक्षायें रखेंगे, जितना कम दूसरे को आँकेंगे उतना ही खुश रह पाएँगे | छोटी छोटी बातों मे खुशी और अच्छाई ढूंढ़ेंगे तो जीने की अलग ही स्फुर्थि रहेगी |